अवैध धर्मांतरण का सिंडिकेट चलाने वाला मौलाना कलीम गिरफ्तार, UPATS ने मेरठ से किया अरेस्ट

लखनऊ: UPATS (आतंकवाद निरोधी दस्ता) ने मुजफ्फरनगर से अवैध धर्मांतरण का देशव्यापी सिंडिकेट चलाने वाले इस्लामिक विद्वान मौलाना कलीम सिद्दीकी को मेरठ से गिरफ्तार किया है। एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार के मुताबिक मौलाना को हवाला के जरिए विदेशों से फंडिंग की जाती थी। वह लोगों को प्रभावित कर शरीयत व्यवस्था लागू करने और जनसंख्या अनुपात बदलने के लिए वृहद स्तर पर धर्मांतरण करवा रहा था। मौलाना कलीम सिद्दीकी टीवी एक्ट्रेस सना खान का निकाह कराने को लेकर चर्चा में आए थे। एटीएस के अधिकारियों ने बताया कि मौलाना की संदिग्ध गतिविधियों को देखते हुए उस पर लंबे समय से नजर रखी जा रही थी। फिलहाल मौलाना कलीम से एटीएस के अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं। यूपीएटीएस के अनुसार मुजफ्फरनगर निवासी मौलाना कलीम सिद्दीकी दिल्ली में रहता है और विभिन्न प्रकार की शैक्षणिक, सामाजिक और धार्मिक संस्थाओं की आड़ में अवैध धर्मांतरण के कार्य को अंजाम देता है। जिसके लिए विदेशों से फंडिंग की जाती है। वह गैर मुस्लिमों को गुमराह और भयाक्रांत कर उन्हें धर्मांतरित करता है और फिर उन्हें भी इस कार्य में लगाता है। मौलाना कलीम जामिया इमाम वलीउल्ला नामक एक ट्रस्ट संचालित करता है। वह कई मदरसों की फंडिंग भी करता है जिसके लिए उसे विदेशों से भारी धनराशि हवाला के जरिए भेजी जाती है। मौलाना इन मदरसों की आड़ में पैगामे इंसानियत के संदेश देने के बहाने लोगों को जन्नत और जहन्नुम जैसी बातों का लालच या भय दिखाकर इस्लाम स्वीकारने के लिए प्रेरित करता है और बाद में इन्हें प्रशिक्षित कर अन्य लोगों का धर्मांतरण कराने का कार्य करता है।  एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार के अनुसार अब तक की जांच में मौलाना के ट्रस्ट जमिया ईमाम वलीउल्लाह को बहरीन से 1.5 करोड़ रुपये सहित कुल तीन करोड़ रुपये की फंडिंग के साक्ष्य मिले हैं। एटीएस की छह टीमें मामले में जांच कर रही हैं। मौलाना कलीम लोगों में प्रचार कर रहा था कि शरीयत के अनुसार बनी व्यवस्था ही सबको न्याय दे सकती है। मौलाना कलीम सिद्दीकी का नाम उमर गौतम मामले की जांच के दौरान सामने आया था। यूपी एटीएस ने धर्मांतरण के आरोप में इस साल जून में दो मौलानाओं मोहम्मद उमर गौतम और मुफ्ती काजी जहांगीर कासमी को गिरफ्तार किया था। पुलिस का कहना था कि ये लोग कथित रूप से धर्मांतरण रैकेट चला रहे थे। उत्तर प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने खुद इस बात की पुष्टि की थी कि गौतम धर्म बदलकर मुस्लिम बना था। मोहम्मद उमर गौतम मूल रूप से उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के रहने वाला है। कलीम सिद्दीकी की गिरफ्तारी धर्मांतरण के मामले में मेरठ से की गई है। कलीम की गतिविधियां संदिग्ध होने का शक जताया गया था। 

Simple GST Billing

Package: Easy to Maintain GST Billing Developed By Easy Enterprises Contact:6394392122,9415804025

Most Populars