लखनऊ: दूसरी बार होने वाला डेंगू बुखार खतरनाक, डेंगू का हीमरेजिक बुखार हो सकता है गंभीर

लखनऊ: डेंगू एक संक्रामक बीमारी है जो कि डेंगू वायरस के चार में से किसी एक प्रकार के डेंगू वायरस से होता है। उस मरीज को उस प्रकार के डेंगू वायरस से लम्बे समय के लिए प्रतिरोधक क्षमता मिल जाती है पर, अन्य तीन प्रकार के डेंगू वायरस से डेंगू बुखार दोबारा हो सकता है। दूसरी बार होने वाला डेंगू बुखार काफी गंभीर हो सकता है जिसे डेंगू हीमरेजिक बुखार कहते हैं। यह जानकारी चिनहट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की चिकित्सा अधीक्षिका डॉ. रश्मि गुप्ता ने मंगलवार को नगरीय पीएचसी इंदिरानगर से डेंगू, मलेरिया जागरूकता रथ को रवाना करने के बाद दी। उन्होंने कहा कि जिला स्वास्थ्य समिति के सहयोग से फेमिली हेल्थ इंडिया एवं गोदरेज द्वारा संचालित एम्बेड परियोजना के तहत जागरूकता रथ लोगों को जागरूक करेगा। डॉ. रश्मि गुप्ता ने आगे कहा कि डेंगू बुखार संक्रमित मादा एडीज मच्छर के काटने से होता है। यदि किसी व्यक्ति को डेंगू का बुखार है और उस व्यक्ति को यह मच्छर काटता है तो उस मच्छर में डेंगू वायरस युक्त खून चला जाता है। उन्होंने कहा कि जब यह संक्रमित मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काट लेता है तो डेंगू वायरस उस स्वस्थ व्यक्ति में चला जाता है। चिकित्सा अधीक्षिका ने बताया कि डेंगू में तेज बुखार के साथ सिर, पीठ और जोड़ों में दर्द होता है। आंखें लाल हो जाती हैं व हथेली और पैर लाल होने लगते हैं। उन्होंने कहा कि गंभीर स्थिति में नाक और मसूड़ों से खून भी आने लगता है। उन्होंने कहा कि डेंगू के उपचार के लिए कोई खास दवा या वैक्सीन नहीं है। बुखार आने पर स्वयं से कोई इलाज न करें। प्रशिक्षित चिकित्सक से ही इलाज कराएं। स्वास्थ्य केंद्रों पर जांच एवं इलाज नि:शुल्क है। कहा कि डेंगू के लिए एलाइजा जांच की जाती है। इस दौरान डॉ. फातिमा, डॉ. सूची कपूर, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी मनोज कुमार व एम्बेड से शालिनी, अनिल चौधरी व अन्य स्वास्थ कर्मी मौजूद रहे।

Simple GST Billing

Package: Easy to Maintain GST Billing Developed By Easy Enterprises Contact:6394392122,9415804025

Most Populars