विश्व दिव्यांग दिवस-2022: अब हर साल 10 फरवरी व 10 अगस्त को चलेगा MDA अभियान, फाइलेरिया मरीज को खिलाई जाएगी दवा

लखनऊ: फाइलेरिया संयुक्त निदेशक एवं राज्य कार्यक्रम अधिकारी डॉ वी. पी. सिंह ने कहा है कि फाइलेरिया रोगी की देखभाल और दिव्यांगता की रोकथाम के लिए मास ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एमडीए) राउंड यानि सार्वजनिक दवा सेवन अभियान चलाया जाता है। भारत सरकार के नेतृत्व में यह अभियान अब हर वर्ष 10 फरवरी और 10 अगस्त को चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसके तहत दो वर्ष से छोटे बच्चों, गर्भवती और गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों को छोड़कर सभी को दवा खानी है। फाइलेरिया नेटवर्क के अति सक्रिय सदस्य रघुवीर प्रताप ने कहा कि फाइलेरिया से व्यक्ति दिव्यांग हो जाता है। इस बीमारी का कोई इलाज नहीं है सिर्फ बचाव से ही इस घातक बीमारी से सुरक्षित रहा जा सकता है। इसलिए अभियान के दौरान दवा अवश्य खानी चाहिए। दिव्यांग लोगों के लिए कार्य कर रही स्पार्क इंडिया के संस्थापक निदेशक एवं सचिव अमिताभ ने कहा कि यह दिवस हमें विचार करने का मौका दे रहा है कि दिव्यांग जनों को दया का पात्र नहीं मानें बल्कि उनको समाज की मुख्य धारा से जोड़ें। दिव्यांग लोगों के लिए समर्पित अंतर्राष्ट्रीय दिवस विभिन्न बीमारियों और कारणों से दिव्यांगता संबंधी समस्याओं के प्रति जन जागरूकता फैलाने के प्रति समर्पित है। इसमें गठिया, अर्थराइटिस, गाउट स्ट्रोक, मानसिक बीमारियां और फाइलेरिया प्रमुख हैं। समय रहते इन समस्याओं से व्यक्ति को बचाया जा सकता है।

Simple GST Billing

Package: Easy to Maintain GST Billing Developed By Easy Enterprises Contact:6394392122,9415804025

Most Populars