लखनऊ में कैदी ने कैंची से काटा गला,हत्या के आरोप में परिजनों का बलरामपुर अस्पताल में हंगामा

लखनऊ: सजा पूरी होने से पहले ही जिला जेल के कैदी आमिर (40) ने शनिवार को खुद पर घास काटने वाली कैंची से हमला कर लूहलूहान कर लिया। दोपहर में बलरामपुर अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इसी बीच मौके पर पहुंचे परिजनों ने जेल प्रशासन पर जेल के भीतर मारपीट का आरोप लगाते हुए अस्पताल में हंगामा कर दिया। हंगामा बढ़ते ही पुलिस फोर्स बुलानी पड़ी। वजीरगंज पुलिस के समझाने पर परिजन शांत हुए। जेल व पुलिस ने अस्पताल में कानूनी कार्रवाई कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। डालीगंज निवासी आमिर चेक बाउंस के मामले में पांच माह की सजा हुई थी। उसकी जनवरी में सजा पूरी होनी थी। जेलर अजय राय के मुताबिक आमिर जेल में सफाई कमान में काम करता था। रोज की तरह शनिवार सुबह करीब आठ बजे स्टोर में सफाई का सामान लेने गया। वहां पर घास काटने वाली कैंची से पेट गर्दन व हाथ में वार कर खुद को लहूलुहान कर लिया। खून से लथपथ देख साथ के कैदियों ने आमिर को जेल अस्पताल पहुंचाया। प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने वहां से उसे बलरामपुर अस्पताल रेफर कर दिया। बलरामपुर की इमरजेंसी में पूर्वाह्न करीब 11.30 बजे आमिर को भर्ती किया गया। जेल प्रशासन की सूचना पर घरवाले वाले भी आ गए। दोपहर करीब एक बजे कैदी ने दम तोड़ दिया। परिजनों का आरोप है कि जेल प्रशासन ने दोपहर में बीमार होने की खबर दी। जबकि उसके साथ मारपीट सुबह हुई थी। बहन फरजाना ने बताया कि आमिर को इलाके के केके तिवारी से 30 हजार के लेनदेन में जेल भेजा गया था। शनिवार दोपहर जेलर का फोन आया कि आमिर की तबियत खराब है, आप लोग बलरामपुर अस्पताल पहुंचों। यहां पता करने पर जानकारी हुई कि अस्पताल में आमिर का शव आया था। आमिर ने पहले भी कई बार बताया था कि जेल में परेशान किया जाता है। जेल कर्मियों ने मेरे बेटे को मार डाला। जब तक न्याय नहीं मिलेगा हम लोग नहीं हटेंगे। हंगामे की सूचना पर पहुंची वजीरगंज पुलिस ने परिजनों को समझा-बुझाकर शांत कराया। जेलर अजय राय का कहना है कि बैरक के कैदियों से बातचीत में पता चला कि कैदी आमिर ने शुक्रवार को जेल के पीसीओ से घर पर बात की थी। बात के दौरान किसी बात को लेकर घरवालों से कहासुनी हुई थी। इसके बाद से वह काफी परेशान था। दिन और रात में गुमसुम था। साथियों से भी बात नहीं कर रहा था। शनिवार को उसने स्टोर में जाकर खुद पर घास काटने वाली कैंची से हमला कर दिया।

Simple GST Billing

Package: Easy to Maintain GST Billing Developed By Easy Enterprises Contact:6394392122,9415804025

Most Populars