देश में जुलाई के अंत तक हर दिन 1 करोड़ को लगेगी कोरोना की वैक्सीन : डॉ. गुलेरिया

नई दिल्ली: देश में वैक्सीन के अभाव में धीमी हुई टीकाकरण की रफ्तार अगले माह के अंत तक तेज हो सकती है। अनुमान है कि जुलाई के अंत तक‌ देश में हर दिन 1 करोड़ से अधिक वैक्सीन लगाई जाएगी। इस संबंध में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), दिल्ली के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया का कहना है कि देश में कोरोना टीके के उत्पादन को बढ़ाना होगा। साथ ही वैक्सीन का स्टॉक, विदेशों से खरीदने के लिए एक व्यापक रणनीति बनानी होगी। एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने आशा जताई कि जुलाई के अंत तक रोजाना 1 करोड़ लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य है। इसके लिए भारत को उत्पादन बढ़ाने और विदेशों से अधिक से अधिक टीके प्राप्त करने की आवश्यकता है। टीके की खरीद के लिए एक 'समग्र समाधान' बनाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन की खरीद के लिए राज्यों की जगह केंद्र को आगे आकर प्रयास करना चाहिए। बता दें कि देश में कोरोना टीके की कमी को लेकर राज्य सरकार लगातार सवाल उठा रहे हैं। साथ ही केंद्र सरकार से मांग कर रहे हैं कि वह खुद वैक्सीन की खरीद के लिए प्रयास करें। राज्य सरकारों को वैक्सीन निर्माता कंपनी वैक्सीन उपलब्ध नहीं करवा रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री भी केंद्र सरकार से वैक्सीन देने की मांग कर चुके हैं।

गर्भवती महिलाओं को जल्द लगे टीका

गर्भवती महिलाओं के लिए टीकाकरण अभियान पर डॉ गुलेरिया ने कहा कि गर्भवती महिलाओं में रोग की संभावना और मृत्यु दर अधिक होती है, इसलिए उन्हें जल्द से जल्द टीका लगवाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वैश्विक आंकड़ों के अनुसार गर्भवती महिलाओं पर टीकों के लाभ उनके नकारात्मक प्रभावों से कहीं अधिक हैं। कोवैक्सिन एक निष्क्रिय वायरस वैक्सीन है जो फ्लू के टीके के समान है। उन्होंने उम्मीद की है कि यह गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित हो सकती है।

Most Populars