बिकरु कांड: खुशी दुबे समेत चार महिलाओं को जेल में रखे जाने पर 'AAP' महिला विंग ने उठाए सवाल, नीलम यादव ने पूछा-इन महिलाओं का कसूर क्या है?

लखनऊ: आम आदमी पार्टी महिला विंग की उत्तर प्रदेश अध्यक्ष नीलम यादव ने विकरू कांड में 10 महीने से जेल में बंद 4 महिलाओं सहित ढाई साल के मासूम की रिहाई एवं महिला अपराध के अन्य मामलों में कार्रवाई की मांग को लेकर गुरुवार को पार्टी कार्यालय पर धरना दिया। महिला विंग की उत्तर प्रदेश अध्यक्ष नीलम यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में खुद सरकार महिलाओं से दुर्व्यवहार और उनका उत्पीड़न करने में लगी हुई है। योगी सरकार उत्तर प्रदेश को महिलाओं के लिए यातना गृह बनाने पर आमादा है, जो हम हरगिज होने नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि बिकरू कांड में विधि विरुद्ध तरीके से 4 महिलाओं को 10 माह से जेल में रखने पर योगी आदित्यनाथ को जवाब देना चाहिए। उन्हें बताना चाहिए कि इन महिलाओं का कसूर क्या है। नीलम यादव ने कहा कि प्रदेश में बेटियां कहीं भी महफूज नहीं रह गई हैं। मेरठ में कार्रवाई न होने के कारण छेड़छाड़ आहत किशोरी ने आत्महत्या कर लेती है। खरखोदा में सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता को आरोपी तमंचा लेकर दौड़ा लेते हैं। कानून व्यवस्था की बद से बदतर हालत के कारण आज बेटियां घर से बाहर निकलने में भी डर रही हैं। उन्हें सुरक्षा दिलाने की कौन कहे, योगी आदित्यनाथ की सरकार महिलाओं को डराने में जुटी हुई है।

ढाई साल का बच्चा भी 10 माह से जेल में बंद

महिला विंग की उत्तर प्रदेश अध्यक्ष नीलम यादव ने बताया कि बहुचर्चित बिकरु कांड में मारे गए अमर दुबे की नवविवाहिता नाबालिक पत्नी खुशी दुबे सहित चार महिलाएं और एक ढाई साल का बच्चा 10 माह से जेल में बंद है। यह हालत तब है जब खुशी दुबे की गिरफ्तारी के वक्त तत्कालीन एसएसपी ने उसे निर्दोष बताते हुए जल्द उसकी रिहाई होने की बात कही थी। इनका नाम पुलिस की पहली एफ आई आर में भी नहीं है। इसके बाद भी योगी सरकार नफरत और प्रतिशोध की राजनीति में 10 महीने से चार बेगुनाह महिलाओं को जेल में सड़ा रही है। उन्होंने चेतावनी दी है कि शीघ्र इन महिलाओं की और बच्चे की रिहाई नहीं हुई तो आम आदमी पार्टी इस मामले को लेकर पूरे प्रदेश भर में आंदोलन छेड़ेगी। धरना प्रदर्शन में नीलम यादव प्रदेश अध्यक्ष, दीप्ति वर्मा, इरम रिजवी, सुभाषिनी मिश्रा, गजाला सिद्दीकी, किश्वर जहां, रूही जमाल, ललिता शर्मा, संगीता जयसवाल, गीतांजलि शर्मा, सीमा लांबा, सीमा चौहान आदि महिलाएं शामिल हुई।

Most Populars