'एक्सपीरियन' ने यूपी में कोविड मरीजों को उपलब्ध कराए उपकरण व दवाएं

लखनऊ: कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित एवं बेहद असुरक्षित समुदायों की मदद के लिए, दुनिया की अग्रणी वैश्विक सूचना सेवा कंपनी, एक्सपीरियन ने कई फ्रंटलाइन एनजीओ के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में सहायता व राहत उपलब्ध करायी है। एक्सपीरियन ने श्री चैतन्य सेवा ट्रस्ट के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश के वृंदावन में मरीजों की सहायता के लिए वेंटिलेटर, डिफाइब्रिलेटर, ईसीजी, मॉनिटर, ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेटर और दवाओं की आपूर्ति की है। वहीं रैपिड रूरल कम्युनिटी रिस्पॉन्स टू कोविड-19 के तहत मिशन एजुकेशन फॉर एम्प्लॉयबिलिटी फाउंडेशन के साथ भी पीड़ितों की मदद की है। इसके तहत एक्सपीरियन ने उत्तर प्रदेश के तीन ब्लॉकों में तीन महीने के लिए गांवों के आइसोलेशन सेंटर्स के प्रबंधन के लिए चिकित्सा उपकरणों एवं दवाओं की आपूर्ति, होम आइसोलेशन किट की आपूर्ति, गंभीर रूप से बीमार मरीजों के लिए परिवहन की व्यवस्था, प्रशिक्षण और टेली-मेडिसिन परामर्श की सुविधाएं उपलब्ध करायी हैं।

कर्मचारियों ने पैसे इकट्ठा करके सहायता की

मैनेजिंग डायरेक्टर, एक्सपीरियन इंडिया नीरज धवन के मुताबिक कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित एवं बेहद असुरक्षित समुदायों की मदद के लिए कंपनी ने कर्मचारियों के लिए पैसे इकट्ठा करने वाले वैश्विक अभियान में एकजुट होकर सहायता के लिए कदम बढ़ाए। पैसे इकट्ठा करने वाले इस अभियान के माध्यम से कोविड-19 से प्रभावित समुदायों और महामारी से निपटने में बेहद असुरक्षित समुदायों की मदद करने वाले विभिन्न गैर-सरकारी संगठनों (NGOs) के लिए 5.5 करोड़ रुपये जुटाए गए। एक्सपीरियन ने कॉर्पोरेट अनुदान के माध्यम से इस अभियान में बराबर का योगदान दिया। एक्सपीरियन ने यूनिसेफ के साथ साझेदारी की है ताकि मरीजों को उनकी 21 मिलियन डॉलर की सहायता योजना के तहत बेहद आवश्यक चिकित्सा उपकरणों एवं दवाओं की आपूर्ति की जा सके, जिसमें 40 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों के निर्माण में सहायता, तथा 3,000 ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेटर, 300 आरटी-पीसीआर मशीनों और 100 आरएनए एक्स्ट्रैक्शन मशीनों की आपूर्ति शामिल है।

Most Populars