लखनऊ: शिक्षक भर्ती अभ्यर्थियों का सीएम आवास व भाजपा कार्यालय के बाहर प्रदर्शन, पुलिस ने बलपूर्वक जबरदस्ती घसीट-घसीटकर हटाया 

लखनऊ: 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण की अनदेखी करने का आरोप लगात हुए अभ्यर्थियों ने मंगलवार को जमकर प्रदर्शन किया। शहर में जगह जगह आंन्दोलन कर रहे अभ्यर्थियों की भारी भीड़ सीएम आवास के पास पांच कालीदास मार्ग स्थित चौराहा से लेकर भाजपा प्रदेश कार्यालय तक पहुंच गयी। आरक्षण बचाओ की नारेबाजी के बीच प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थियों को इन दोनों जगहों से हटाने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को बलपूर्वक जबरदस्ती घसीट -घसीट कर हटाया। बसों में भर कर ईको गार्डेन छोड़ा। इस दौरान कई अभ्यर्थी चोटिल हुए, कुछ बेहोश हो गए। दो को अस्पताल तक ले जाना पड़ा।   शिक्षक भर्ती में आरक्षण में घोटाला होने को लेकर अभ्यर्थी लम्बे समय से आंदोलन कर रहे हैं। इसमें वह भी अभ्यर्थी शामिल हैं जिनका कहना है कि 69000 भर्ती प्रक्रिया में 22 हजार सीट और जोड़ी जाए और उन्हें भरा जाए। आरोप है कि प्रदेश में शिक्षकों के रिक्त पदों की संख्या बहुत ज्यादा है। ऐसे में अभी कम से कम 22 हजार बहाली और की जा सकती है। प्रदर्शनकारी इस दौरान लगातार सीट बढ़ाने को लेकर नारे लगा रहे थे। उनके हाथों में अपनी मांगों से जुड़े पोस्टर भी थे। बेसिक शिक्षा निदेशालय, बेसिक शिक्षा मंत्री और उपमुख्यमंत्री आवास का घेराव कर लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे थे। सोमवार को निशातगंज स्थित बेसिक शिक्षा निदेशालय से पुलिस ने इन अभ्यर्थियों को जबरन हटाया था। अभ्यर्थियों का कहना है कि आरक्षण नियमों के दरकिनार करने से करीब15 हजार लोगों की नौकरी मारी जा रही है। मंगलवार को अभ्यर्थियों ने सुबह पहले मुख्यमंत्री आवास के बाहर जमा हुए। अभ्यर्थी मुख्यमंत्री जनता दर्शन में अपनी बात रखने चाहते थे। पुलिस तुरंत हरकत में आई और अभ्यर्थियों को हटाने लगी। इस पर चौराहे पर ही नारेबाजी शुरू हो गई। पुलिस ने बलपूर्वक घसीट -घसीट कर हटाना शुरू कर दिया। खूब धक्का मुक्का हुई। इस जबरदस्ती से कई महिला अभ्यर्थी फूट फूट कर रोईं। लेकिन जबरन बसों में भर कर ईको गार्डेन भेज दिया गया। तुरंत बाद अभ्यर्थियों की दूसरी टोली ने भाजपा प्रदेश कार्यालय के गेट नंबर दो पर प्रदर्शन शुरू कर दिया। यहां भी पुलिस द्वारा हटाए जाने के दौरान कई अभ्यर्थियों को चोटें आईं।  प्रदर्शन कर रही अभ्यर्थियों मुक्ता कुशवाहा व सरिता पटेल को गंभीर चोट लगी है। अस्पताल भेजा गया। दोनों ही जगह प्रदर्शन के दौरान कई अभ्यर्थी बेहोश हुए। अभ्यर्थियों ने सरकार से 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण बंटवारे में हुई गलती को सुधारने और ओबीसी व एससी के योग्य अभ्यर्थियों को तय आरक्षण कोटे के हिसाब से नियुक्ति दिए जाने की मांग की। अभ्यर्थी विजय प्रताप व राज कुमार यादव ने बताया कि राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग ने अपनी रिपोर्ट में सरकार से कहा है कि शिक्षक भर्ती में ओबीसी को 27 प्रतिशत की जगह 3.86 फीसदी आरक्षण दिया गया है। वहीं एससी वर्ग को भी 21 के स्थान पर 16.6 प्रतिशत ही आरक्षण का लाभ मिला है।   इससे पहले ओबीसी और एसई वर्ग के लोगों ने पिछले दिनों शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी के घर का घेराव किया था। इसमें आरोप था कि 27 फीसदी ओबीसी आरक्षण के नियम को फॉलो नहीं किया गया है। इसमें छह लोगों का डेलीगेशन शिक्षा मंत्री से मिला भी था। मंत्री ने मामले में आयोग से चार दिन में रिपोर्ट मांगने की बात कही थी।

Simple GST Billing

Package: Easy to Maintain GST Billing Developed By Easy Enterprises Contact:6394392122,9415804025

Most Populars