लखनऊ में दस्तक अभियान के तहत मिले 30 TB के मरीज, संभावित लक्षण वाले 190 की स्क्रींनिंग में पुष्टि 

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 12 से 25 जुलाई तक दस्तक अभियान के तहत टीबी के 30 मरीज मिले हैं। स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने संभावित लक्षण वाले 190 लोगों की स्क्रींनिंग की, जिसमें 30 मरीजों में इसकी पुष्टि हुई। इन मरीजों को राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम में शामिल करते हुए इलाज भी शुरू कर दिया गया है। जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. ए.के.चौधरी ने गुरूवार को बताया कि दस्तक अभियान के तहत आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने घर- घर जाकर संभावित टीबी रोगियों को चिन्हित कर उनकी सूची तैयार की। इस दौरान टीबी के 30 मरीज ढूंढे गए हैं।  राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के पब्लिक प्राइवेट मिक्स समन्वयक रामजी वर्मा ने बताया कि यदि दो हफ्ते से लगातार खांसी आ रही हो, रात में पसीना व वजन में लागातर कमी आये तो तत्काल ही चिकित्सक को दिखाएं। उन्होंने कहा कि टीबी लाइलाज बीमारी नहीं है लेकिन इसकी दवाओं का नियमित सेवन जरूरी होता है। ऐसा न करने से एमडीआर टीबी होने की सम्भावना होती है। उन्होंने कहा कि सरकार क्षय मरीजों के पोषण के लिए निक्षय पोषण योजना के तहत इलाज के दौरान हर महीने 500 रूपये  सीधे बैंक खाते में भेजती है।

Simple GST Billing

Package: Easy to Maintain GST Billing Developed By Easy Enterprises Contact:6394392122,9415804025

Most Populars